Rescue from incurable disease

Rescue from incurable disease
लाइलाज बीमारी से मुक्ति उपाय है - आयुर्वेद और पंचकर्म चिकित्सा |
  • Home
  • Contact Us
  • About Me
  • Q & A
  • Article's स्वास्थ्य लेख
  • Panchakarma(पंचकर्म)
  • Common Article
  • Specific article (विशेष लेख)
  • VIDEO
  • प्रश्न- बॉडी बिल्डिंग के लिए जड़ी बूटी बताएं।

    प्रश्न- बॉडी बिल्डिंग के लिए जड़ी बूटी बताएं। 



    प्रश्न- Respected sir/madam. Plz give me tel me about any ayur. medi. 
    which i can use after my gym workout. i m an vegetarian and don't wants
     to use steroid like other peoples. they have got very good bodymuscles
     in very less time. comparing to them my body is not growing well even 
    my bodyweight is not increasing. plz suggest me some hearbles (Jari buti)
    combination which can give me some boost to my muscles and increase
     my body weight also. भवदीय, Parminder | parminderpsm@yahoo.in 
    date: 13 March 2014  नोट: यह ईमेल पर संपर्क फ़ॉर्म गैजेट से भेजा गया।
    उत्तर -- कोई भी व्यक्ति जैसा चाहता है या सोचता है उसे वैसा अवश्य मिलता है। पर उसके लिए उसके अनुरूप ही करना भी पड़ता है। 
    शरीर के साथ भी यही बात है। आप मांस पेशियाँ बढ़ाना चाहते हें, तो आपकी इच्छा पूरी हो सकती है, पर उसके अनुरूप खान-पान, दिन चर्या (देखें केसी हो), वातावरण, तो बनाना ही होगा। ओर भी जरूरी हे की आपका शरीर भी निरोगी होकर उसको पाने का सामर्थ्य भी रखता हो।
       इसका अर्थ है सबसे पहली जरूरत शरीर के निरोगी होना अति आवश्यक है। देखे लिंक)   
    यादी आप सोचते हें की कोई जड़ी बूटी कोई चमत्कार करेगी तो आप गलत सोचते हें। इसके बहाने से कोई जड़ी बूटी बेचने वाला जरूर अपनी बॉडी बिल्डिंग कर लेगा।  प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स, कार्बोहाइड्रेट , और संतुलित आहार, और पर्याप्त तरल, पानी, दूध, नारियल पानी, आदि लेने से आपकी इच्छा पूरी हो सकती है।    
        
         बॉडी बिल्डिंग में मांसपेशियों का आकार पाने की इच्छा रखने वालों को  प्रोटीन बहुत जरूरी है, इसके लिए जरूरी है कि आप प्रचुर मात्रा में प्रोटीन और कैलोरी का सेवन करें। मांसपेशियों के निर्माण और निरंतर मरम्मत के लिए भी प्रोटीन बहुत जरूरी होता है। जिम जाने वाले लोग मांसपेशियों की काफी कसरत करते हैं, इसे ध्यान में रखते हुए प्रोटीन अधिक लेना चाहिए। साथ ही,  उन्‍हें कार्बोहाइड्रेट भी लेना चाहिए। क्योकि कार्बोहिड्रेट ही प्रोटीन के द्वरा शरीर को ऊर्जा देने में ईंधन का काम करता है।  

       बॉडी बिल्डिंग के लिए अपने शरीर के वजन के हर किलो मांस पेशी के लिए 1.5 से 2 ग्राम तक प्रोटीन लेने की जरूरत होती है। साथ ही संतुलित आहार बहुत जरूरी है। सही मात्रा में कॉर्बोहाइड्रेट, मिनरल, विटामिन, प्रोटीन और पानी का सेवन करते हैं। 
    पानी पीना भी किसी बॉडी बिल्डर के लिए एक आवश्यक तथ्य है। हमारे शरीर का अधिकांश भाग पानी ही हे। कम पानी पीने से पेशियाँ कम होने लगती हें। जरूरी हे की पर्याप्त मात्रा में पानी पिया जाए।  इसके साथ ही नारियल का पानी अधिक अच्छा है।  
         मांसाहारियों को तो प्रोटीन सीधे आसानी से मिल जाता है,  पर शाकाहारियों के लिए डायट प्‍लान में सभी पोषक तत्‍व संतुलित मात्रा में होने चाहिये। इसे बनाते समय लिंग आयु और वजन के हिसाब से बनाना चाहिए। शाकाहारियों को हरी पत्तेदार सब्जियां और फलों का सेवन अधिक करें। प्रोटीन की जरूरतों को पूरा करने के लिए सोयाबीन, टोफू, सोया मिल्‍क और टोंड अथवा डबल टोंड दूध लें। स्‍प्राउट्स, दालों आदि का सेवन करें। चपाती बनाने के लिए गेहूं के आटे में चना और सोया का आटा मिला लें। अपने आहार में फाइबर का स्‍तर उच्‍च बनाये रखें। इससे कई बीमारियों से बचा जा सकता है।
    कितनी केलोरी रोज खाना चाहिए इसके लिए किसी डाइटीशियन की मदद ली जा सकती है।  

    समस्त चिकित्सकीय सलाह रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान(शिक्षण) उद्देश्य से हे| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें| आपको कोई जानकारी पसंद आती है, ऑर आप उसे अपने मित्रो को शेयर करना/ बताना चाहते है, तो आप फेस-बुक/ ट्विटर/ई मेल/ जिनके आइकान नीचे बने हें को क्लिक कर शेयर कर दें। इसका प्रकाशन जन हित में किया जा रहा है।
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

    स्वास्थ है हमारा अधिकार

    हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

    चिकित्सक सहयोगी बने:
    - हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|