Rescue from incurable disease

Rescue from incurable disease
लाइलाज बीमारी से मुक्ति उपाय है - आयुर्वेद और पंचकर्म चिकित्सा |
  • Home
  • Contact Us
  • About Me
  • Q & A
  • Article's स्वास्थ्य लेख
  • Panchakarma(पंचकर्म)
  • Common Article
  • Specific article (विशेष लेख)
  • VIDEO
  • प्रश्न - चिकिन गुनियाँ के बाद जोढ़ों के दर्द की चिकित्सा?

    प्रश्न - मेरी पत्नी को चिकिन गुनियाँ के बाद जोढ़ों के दर्द की चिकित्सा बताएं?
     [after Chikenguniya's treatment for Joint pain. My wife suffer with join pain. Please guide me. भवदीय, Hiren shah | hsci2012@gmail.com]

    उत्तर- चिकनगुनिया रोग [जो एडीज़ मच्छर द्वारा वाइरस पहुँचने से होता है,] में जोड़ों की सूजन, जोड़ों का दर्द, जोड़ों की हार्डनेस [कठोरता] मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, थकान (कमजोरी), मतली, उल्टी और चिड़चिड़ाहट और ज्वर होता है।
    बीमारी के संक्रमण का समय 2-12 दिन का हो सकता है।  आम तौर पर 3-7 दिनों की होता है। एक्यूट चिकनगुनिया बुखार आमतौर कुछ दिनों तक रहता है। लेकिन कुछ रोगियों को लंबे समय तक थकान, कुछ रोगियों को जोड़ों का दर्द, हफ्तों या महीनों तक रह सकता है। 
     ये दर्द शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली की सक्रियता के कारण है।  उपचार कई हफ्तों के लिए दोहराया जा सकता है। आम तौर पर मरीजों को इस उपचार के तीन से चार चक्र के साथ उल्लेखनीय सुधार दिखता है। 
    आप रोगी को 
    1-दशमूलरिष्ट 25ml +अमृतारिष्ट 25 ml पानी मिलकर प्रात: साय खाना खाने के बाद + 
    2-महायोगराज गूगल 2-2 ग्राम गोली क्रश करके [तोढ़कर] दो बार गरम दूध से एक माह तक दें। लाभ एक दो दिन में ही मिलना शुरू हो जाएगा। 
    =======================================================================
    समस्त चिकित्सकीय सलाह रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान(शिक्षण) उद्देश्य से हे| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें| आपको कोई जानकारी पसंद आती है, ऑर आप उसे अपने मित्रो को शेयर करना/ बताना चाहते है, तो आप फेस-बुक/ ट्विटर/ई मेल/ जिनके आइकान नीचे बने हें को क्लिक कर शेयर कर दें। इसका प्रकाशन जन हित में किया जा रहा है।

    Book a Appointment.

    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

    स्वास्थ है हमारा अधिकार

    हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

    चिकित्सक सहयोगी बने:
    - हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|