Rescue from incurable disease

Rescue from incurable disease
लाइलाज बीमारी से मुक्ति उपाय है - आयुर्वेद और पंचकर्म चिकित्सा |
  • Home
  • Contact Us
  • About Me
  • Q & A
  • Article's स्वास्थ्य लेख
  • Panchakarma(पंचकर्म)
  • Common Article
  • Specific article (विशेष लेख)
  • VIDEO
  • "Uttar Basti" - Panchakarma Process, by male and female genitals and urinary tract.

    उत्तर बस्ती – पुरुष और स्त्रियों के जननेद्रिय और मूत्र मार्ग से दी जाने वाली एक पंचकर्म प्रक्रिया|
    आयुर्वेदिक चिकित्सामें पंचकर्म अंतर्गत चिकित्सा प्रक्रियाओं में उत्तर बस्ती (Uttarbasti) जननेंद्रिय (reproductive system) [स्त्रियों में योनी और मूत्र  एवं पुरुष के मूत्र मार्ग] से की जाने वाली प्रक्रिया है|
    पंचकर्म की उत्तरबस्ती चिकित्सा बांझपन और गर्भाशय से संबंधित रोगों के लिए प्रमुख रूप से हजारों वर्षों से की जा रही है| यह एक भ्रान्ति है की उत्तर बस्ती केवल स्त्रियों में ही दी जाती है|
    स्त्रियों में अत्यार्तव (Menorrhagia), कष्टार्तव (डिसमेनोरीया Dysmenorrhea), प्रदर (Leucorrhoea), बन्ध्यत्व (बाँझपन Sterility), आदि कई गर्भाशय, आदि रोगों की तथा स्त्री और पुरुषों में होने वाला मूत्रमार्ग संकोच Urethral stricture) or मूत्राघात/ मुत्रोत्संग Mutra ghat/ Mutrotsang ) आदि की चिकित्सा “उत्तर बस्ती” से की जाती है| पुरुषों के मूत्र मार्ग समस्याओं (urinary problems), प्रोस्टेट में सूजन, संक्रमण, मूत्रमार्ग संकोच (Urethral stricture), की चिकित्सा के लिए उत्तर बस्ती श्रेष्ट प्रक्रिया है|
    योनी या मूत्रमार्ग से ओषधि क्वाथ, तैल, आदि इस प्रक्रिया में प्रयोग किया जाता है| गुदा बस्ती की तरह ही ये बस्तियां भी शोधन, पोषण, एवं रोग निवारण के लिए दी जा सकती है|  
    सामान्यत: स्त्रियों में उत्तर बस्ती मासिक धर्म के बाद 4 से 16 दिन के बीच दी जातीं है परन्तु रोग और उनकी गंभीरता के अनुसार किसी भी समय दी जा सकतीं है| योनी मार्ग से अविवाहित युवतियों को जब तक विशेष परिस्थिति न हो नहीं देना चाहिए|   
    उत्तर बस्ती में किसी प्रकार का कोई दर्द, कष्ट नहीं होता, कितनी देर, कितने दिन या समय तक उत्तर बस्ती दी जान है यह बात रोग, परिस्थिति, अदि की गंभीरता पर निर्भर होती है| उत्तर बस्ती चिकित्सा हमेशा निष्णात, आयुर्वेदिक चिकित्सक से ही करवाना चाहिए, उत्तर बस्ती में भी किसी शल्य चिकित्सा (Surgery) की तरह सभी नवाचार (Protocol) का पालन किया जाना भी आवश्यक होता है| उत्तर बस्ती उपचार के लिए रोगी को चिकित्सालय में भर्ती रखा जाना भी जरुरी नहीं होता|   
    स्त्रियों में उत्तर बस्ती चिकित्सा से निम्न समस्यायें
    डिम्ब वाहिनी नली में रूकावट (Fallopian tubule blockage)
    गर्भाशयगत मांसपेशी ग्रन्थि (Uterine fibroid)
    गर्भाशय ग्रीव क्षय (Cervical  erosions)
    कृच्छआर्तव या अंतर्गर्भाशयकला रोग  (एन्‍डोमीट्रीओसिस[1])  Endometriosis
    बांझपन (Infertility)
    गर्भाशय ग्रीवा गांठ ( Cervical Polyp)
    Virginities
    पुरुषों में उत्तर बस्ती से ठीक होने वाली समस्याएं-
     सभी मूत्र मार्ग की समस्या Urinary Problems of any type
    मूत्राशय शोथ (Cystitis)
    तंत्रिकाजन्य मूत्राशय Neurogenic[2]  Bladder
    मूत्र का असंयम (Incontinence of Urine)

            End of "Uttar Basti" - Panchakarma Process, by male and female genitals and urinary tract.



    [1] - मासिक धर्म के दौरान दर्द होना, यौन संबंध बनाते समय दर्द होना, यह गर्भाशय, अंडाशय और फैलोपियन ट्यूब और गर्भ के पीछे कहीं भी हो सकता है। किसी प्रकार के घाव या सर्जरी भी इस बीमारी के लिए जिम्‍मेदार हो सकते हैं। वजाइना के मुख पर अतिरिक्‍त कोशिकाओं का विकास हो जाता है जो मासिक धर्म और यौन संबंध बनाने के दौरान दर्द का कारण बनता है।
    [2] - Neurogenic bladder is bladder dysfunction तंत्रिका तंत्रीय मूत्राशय -मूत्र का अधिक आना, रुक न पाना, बार-बार आना, एक दम से मूत्र आना, आदि लक्षण मष्तिष्क विषयक किसी दोष के कारण होते है|
    ============================================================================
    ---------------Link Click to See Latest 10 Articles.-------------
     समस्त चिकित्सकीय सलाह, रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान (शिक्षण) उद्देश्य से है| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें| इसका प्रकाशन जन हित में किया जा रहा है।
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

    स्वास्थ है हमारा अधिकार

    हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

    चिकित्सक सहयोगी बने:
    - हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|