Rescue from incurable disease

Rescue from incurable disease
लाइलाज बीमारी से मुक्ति उपाय है - आयुर्वेद और पंचकर्म चिकित्सा |
  • Home
  • Contact Us
  • About Me
  • Q & A
  • Article's स्वास्थ्य लेख
  • Panchakarma(पंचकर्म)
  • Common Article
  • Specific article (विशेष लेख)
  • VIDEO
  • पीलिया या हेपेटाई टिस का इलाज- आपके प्रश्नो पर हमारे उत्तर,

    प्रश्न- 2012 me hepetaitis a huwatha dr bole liver problam hai drink bandkaro tab se aajtak drink band hai bhookh bhadi hai vajan bhi bhadhahai jo pehele kam hogaya tha ab koi bi problam nahi hai phir bhi aap upaya batalyee

    भवदीय,
    anandmedhe | anandamedhe@gmail.com

    उत्तर - आपने अपनी आयु नहीं बताई. 
    अधिक समय तक बिना कुछ खाए यदि अल्कोहल लिया जाता है तो इसका असर लीवर पर पड़ता है| साथ ही पेट में अम्लता (एसिडिटी) बड जाया करती है, और पेट में अल्सर भी हो सकता है| 
    यह अपने अच्छा किया की अब पीना बंद कर दिया है| अब आपकी वर्तमान में क्या स्तिथि है| 
    आपको निम्ननुसार  दवाएं लेना चाहिए|  
    पुनार्न्वादी मंडूर २ - ग्राम + सुत शेखर २०० एम जी दिन में दोबार, कामदुधा रस २०० एम् जी एवं लिव  52DS टेब १-१ दोबार भोजन के बाद, + रोहितका रिष्ट 20 एम् एल + पानी मिलाकर भोजन के बाद |
    भोजन चिकनाई घी तेल  रहित लें| खाना सदा और कम  मात्र में और दिन में कम से कम चार बार में  थोडा थोडा करके लें  | इससे लीवर पर अधिक दवाव भी नहीं 
     अधिक जानकारी के लिए पड़ें-- लिंक 
    प्रतिदिन लगभग तीन माह तक लें| विशेष परिस्थिति में संपर्क ( समय लेकर) करें | 
    समस्त चिकित्सकीय सलाह रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान(शिक्षण) उद्देश्य से हे| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें| आपको कोई जानकारी पसंद आती है, ऑर आप उसे अपने मित्रो को शेयर करना/ बताना चाहते है, तो आप फेस-बुक/ ट्विटर/ई मेल/ जिनके आइकान नीचे बने हें को क्लिक कर शेयर कर दें। इसका प्रकाशन जन हित में किया जा रहा है।

    Book a Appointment.

    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

    स्वास्थ है हमारा अधिकार

    हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

    चिकित्सक सहयोगी बने:
    - हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|