Rescue from incurable disease

Rescue from incurable disease
लाइलाज बीमारी से मुक्ति उपाय है - आयुर्वेद और पंचकर्म चिकित्सा |
  • Home
  • Contact Us
  • About Me
  • Q & A
  • Article's स्वास्थ्य लेख
  • Panchakarma(पंचकर्म)
  • Common Article
  • Specific article (विशेष लेख)
  • VIDEO
  • मूत्र त्याग करने में जलन- आपके प्रश्नो पर हमारे उत्तर ।

    Q-   मूत्र त्याग करने में जलन होती है।    
    25 july 2013/12:44
     sir mujhe urinary infection rahta he KFT or CTIVP ke bad bhi koi bimari nazar nahi aa rahi he par last 5 year se urine me jalan or backflow jesi problem aa rahi he

    भवदीय,
    Hemant vyas | vyas.hem@gmail.com 
    नोट: यह ईमेल http://healthforalldrvyas.blogspot.in पर संपर्क फ़ॉर्म गैजेट के द्वारा भेजा गया था। 


    A- आपका KFT [किडनी फंगशन टेस्ट] नार्मल हे तो गुर्दे ठीक हें ओर डिहायड्रेशन[पानी की कमी] भी नहीं है।जो मूत्र त्याग में जलन का कारण हो सकता है। CTIVP भी एक प्रकार का एक्स रे हें जिससे किडनी से मूत्राशय तक की जांच की जाती है। वह भी नार्मल है तो पथरी आदि भी सभावित नहीं हें। अथवा रिपोर्ट गलत हें। VDRL टेस्ट हुआ या नहीं? जनरल मूत्र टेस्ट की क्या रिपोर्ट है। अब्ड़ोमिनल सोनोग्राफी जांच हुई या नहीं? 
    यदि सभी सामान्य हें तो मूत्र में जलन का कारण अधिक मिर्च-मसाले खाने से या अन्य किसी कारण से मूत्र के अम्लीय [एसिडिक]  होने से भी जलन होती हें। प्रत्यक्ष चर्चा [काउन्सलिन्ग] के माध्यम कारण का पता लगने  के बाद जलन से आराम मिल सकता है। अथवा -

    1. योग्य चिकित्सक से परामर्श करें अथवा पूर्व समय लेकर हमसे मिलें। 
    2.  गोक्षुरादी गुगुलू 2-2 गोली + पुनर्ववादी क्वाथ 25 एम एल के साथ  प्रात: सायं लें। 10 दिन लेने के बाद संपर्क करें। 

    -------------------------------------------------------------------------------------------------------------
    ओर भी देखें---

    समस्त चिकित्सकीय सलाह रोग निदान एवं चिकित्सा की जानकारी ज्ञान(शिक्षण) उद्देश्य से हे| प्राधिकृत चिकित्सक से संपर्क के बाद ही प्रयोग में लें|

    Book a Appointment.

    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
    Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

    स्वास्थ /रोग विषयक प्रश्न यहाँ दर्ज कर सकते हें|

    स्वास्थ है हमारा अधिकार

    हमारा लक्ष्य सामान्य जन से लेकर प्रत्येक विशिष्ट जन को समग्र स्वस्थ्य का लाभ पहुँचाना है| पंचकर्म सहित आयुर्वेद चिकित्सा, स्वास्थय हेतु लाभकारी लेख, इच्छित को स्वास्थ्य प्रशिक्षण, और स्वास्थ्य विषयक जन जागरण करना है| आयुर्वेदिक चिकित्सा – यह आयुर्वेद विज्ञानं के रूप में विश्व की पुरातन चिकित्सा पद्ध्ति है, जो ‘समग्र शरीर’ (अर्थात शरीर, मन और आत्मा) को स्वस्थ्य करती है|

    चिकित्सक सहयोगी बने:
    - हमारे यहाँ देश भर से रोगी चिकित्सा परामर्श हेतु आते हैं,या परामर्श करते हें, सभी का उज्जैन आना अक्सर धन, समय आदि कारणों से संभव नहीं हो पाता, एसी स्थिति में आप हमारे सहयोगी बन सकते हें| यदि आप पंजीकृत आयुर्वेद स्नातक (न्यूनतम) हें! आप पंचकर्म केंद्र अथवा पंचकर्म और आयुर्वेदिक चिकित्सा प्रक्रियाओं जैसे अर्श- क्षार सूत्र, रक्त मोक्षण, अग्निकर्म, वमन, विरेचन, बस्ती, या शिरोधारा जैसे विशिष्ट स्नेहनादी माध्यम से चिकित्सा कार्य करते हें, तो आप संपर्क कर सकते हें| 9425379102/ mail- healthforalldrvyas@gmail.com केवल परामर्श चिकित्सा कार्य करने वाले चिकित्सक सम्पर्क न करें|